Chhattisgarh Newsछत्तीसगढ़बिलासपुर

कोरोना ना हो जाए इस डर से पहले ही खा लिया जहर, 1 की मौत, दूसरी अस्पताल में भर्ती

www.media24media.com

बिलासपुर । कोरोना की दहशत अभी भी इस कदर है कि लोग अपनी जान देने पर उतारू हैं। बिलासपुर में एक परिवार की दो महिलाओं ने महज इसलिए (latest news of corona virus) जान देने का प्रयास किया कि उन्हें शक था कि उन्हें कोरोना है और उनका इलाज नहीं हो पायेगा। यही नहीं उन्होंने अपने पालतू कुत्ते को भी जहर दे दिया। हालांकि इस घटना में एक महिला की मौत हो गई, जबकि दूसरी महिला अस्पताल में भर्ती है।

शहर के सरकंडा स्थित सोनगंगा कॉलोनी में किराए के मकान में रहने वाली दो महिलाएं जिसमें एक 60 वर्षीय सकून वर्मा व उनकी बेटी श्वेता वर्मा ने शनिवार को जहर खाकर जान देने की कोशिश की। इस घटना में जहां सकून वर्मा की मौत हो गई, वहीं श्वेता वर्मा की हालत गंभीर है। मरने से पहले उनके घर से सुसाइड नोट भी बरामद किया गया है।

पेंशन से चलता था घर

सोनगंगा कॉलोनी में 60 वर्षीय सकून वर्मा अपनी बेटी श्वेता के साथ रहती थी। उनके पति जो SECL मेम काम करते थे, उनकी दो साल पूर्व मौत हो चुकी है। पेंशन से उनका घर चलता था। इनका एक बेटा कहीं बाहर काम करता है। मजदूरों द्वारा पुलिस को गहतन की जानकारी मिलने पर पहले श्वेता, जिसकी सांसें चल रही थी उसे सिम्स भर्ती कराया गया इसके बाद पुलिस ने घर की जांच की तो वहां सुसाइड नोट मिला।

सुसाइड नोट से हुआ खुलासा

सुसाइड नोट (latest news of corona virus) में घटना का जिम्मेदार किसी का न होना बताया गया है। मकान मालिक को परेशान न करने की बात कही गई है और मकान के किराए की हिसाब लिखी गई है। नोट में कहा गया है कि पिछले कई दिनों से उनके गले में खराश, जीभ में स्वाद का न आना, चक्कर आना जैसी गंभीर समस्याओं से ग्रस्त होने के कारण वे मर रही हैं। उसमें यह भी कहा गया था कि चूंकि उनके बाद उनके कुत्ते को भी कोई देखभाल नहीं करेगा इसलिए उसे भी जहर दे रहे हैं।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close