Chhattisgarh Newsकोरोना न्यूजछत्तीसगढ़जशपुररायपुर
Trending

जेल के अंदर तक पहुंचा कोरोना, 5 कैदियों की मौत, 100 से ज्यादा कैदी पॉजिटिव

www.media24media.com

छत्तीसगढ़ में कोरोना की दूसरी लहर का कहर लगातार जारी है। वहीं कोरोना का दायरा इतना बढ़ गया है कि जेल के अंदर बंद कैदी भी संक्रमित हो रहे हैं। बता दें कि कोरोना से अब तक 5 कैदियों की मौत हो चुकी है। हाल ही में कोरोना से प्रदेश की जेलों में हुई बंदियों की मौत से विभाग में हड़कंप मच गया है। वहीं 100 से ज्यादा बंदी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।

दुखद : पति की कोरोना से मौत के बाद पत्नी ने भी मौत को लगाया गले, सदमे में कर ली आत्महत्या

बता दें कि छत्तीसगढ़ में कुल 33 जेल हैं, जहां बीते कुछ दिनों में लगभग 100 बंदी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। राहत कि बात यह है कि कुछ को छोड़ दें तो बाकी संक्रमित बंदी अब स्वस्थ हो चुके हैं।

रायपुर जेल में कोई नहीं है संक्रमित

जानकारी के मुताबिक रायपुर केंद्रीय जेल में जनवरी 2021 से लेकर अब तक 21 बंदी कोरोना संक्रमित हुए थे, जो पूरी तरह ठीक हो चुके हैं। यानी कि अब रायपुर जेल में कोई भी कोरोना संक्रमित नहीं है।

14-14 दिन अलग-अलग बैरक में रखें जा रहे बंदी

छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों में लगभग 100 कैदी कोरोना संक्रमित हुए थे, जिनका ट्रीटमेंट किया गया और स्थिति अब नियंत्रण में है। कोरोना गाइडलाइन के मुताबिक प्रदेश की जेलों में व्यवस्थाएं की गई है। जेलों में आने वाले नए बंदियों का सबसे पहले कोरोना टेस्ट कराया जाता है। उसके बाद उन्हें 14-14 दिन अलग-अलग बैरक में रखा जाता है। फिर उन्हें जेल में अन्य बंदियों के साथ रखा जाता है।

इन जिलों के जेल में हुई मौत

कोरोना के दूसरे लहर के बीच 5 बंदियों की अब तक मौत हुई है, जिन 5 बंदियों की मौत हुई है उसमें दो दुर्ग, एक अंबिकापुर और दो रायपुर के बंदी शामिल हैं। छत्तीसगढ़ की विभिन्न जेलों में लगभग 18500 कैदी है। यह प्रदेश की जेलों की क्षमता से थोड़े ज्यादा है। रायपुर जेल में भी लगभग 3 हजार से ज्यादा बंदी हैं।

जेल DIG ने दी जानकारी

जेल DIG ने बताया कि बीते साल कोरोना संक्रमण के दौरान जेलों में बंदियों की संख्या कम करने के लिए कई बंदियों को पैरोल पर छोड़ा गया था, जो जनवरी में वापस आ गए। हालांकि अभी भी कुछ बंदी वापस जेल नहीं पहुंचे हैं, जिनके खिलाफ जेल प्रशासन की ओर से आगे की कार्रवाई की जा रही है। वर्तमान में सिर्फ जशपुर जेल में एक्टिव केस हैं। इस जेल में 22 कैदी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, जिनका इलाज जारी है। इन्हें अन्य बंदियों से अलग रखा गया है।

संक्रमण के खतरे को देखकर छोड़े गए थे बंदी

गौरतलब है कि बीते साल कोरोना की पहली लहर के बीच बंदियों को कोरोना से बचाने के लिए जेल प्रशासन ने कई कदम उठाए थे, जिसके अंतर्गत छोटी धाराओं में जेल में बंद लगभग 5 हजार से ज्यादा बंदियों को पैरोल और अंतरिम जमानत पर छोड़ा गया था। ताकि जेल के अंदर क्षमता से ज्यादा बंदी ना रहे और कोरोना संक्रमण का खतरा कम हो सके।

हजार कोशिशों के बाद भी कैदी हो रहे संक्रमित

बहरहाल जेल प्रशासन ने कोरोना संक्रमण से बंदियों को बचाने के लिए कई उपाय किए हैं। बावजूद इसके लगातार बंदी कोरोना संक्रमित हो रहे हैं। यहां तक कि अब बंदियों के मौत की भी खबर आने लगी है। वहीं बंदियों की हो रही मौत जेल प्रशासन के लिए मुसीबत का सबब बनता जा रहा है।

रविवार को 11,825 नए केस

बता दें कि छत्तीसगढ़ में रविवार को 11,825 नए केस सामने आए हैं। जबकि 154 लोगों की मौत हो गई है। वहीं रविवार को मिले नए मरीजों के बाद छत्तीसगढ़ में एक्टिव केसों की संख्या बढ़कर 1 लाख 20 हजार 036 पहुंच गई है।

कोरोना के आंकड़ों पर एक नजर

  • छत्तीसगढ़ में रविवार को 11,825 नए मरीजों की पहचान
  • छत्तीसगढ़ में अब तक 7 लाख 56 हजार 427 संक्रमित
  • छत्तीसगढ़ में पिछले 24 घंटे में 154 कोरोना मरीजों की मौत
  • छत्तीसगढ़ में अब तक कोरोना से 9,009 मरीजों की मौत
  • छत्तीसगढ़ में रविवार को 12,168 मरीज स्वस्थ
  • छत्तीसगढ़ में अब तक 6 लाख 27 हजार 051 मरीज स्वस्थ
  • छत्तीसगढ़ में 1 लाख 20 हजार 036 एक्टिव केस
Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close