NATIONALकोरोना न्यूजदेश-दुनिया

कोरोना पॉजिटिव पिता के शव के साथ दो दिनों तक रही मासूम बेटी, मानवता भूल रहे लोग

www.media24media.com

देश के बाकी राज्यों की तरह बिहार में भी कोरोना तेजी से बढ़ रहा है। हर तरफ अस्पताल में बेड और ऑक्सीजन की किल्लत बढ़ती जा रही है। हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। इसी बीच पटना से दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है।

महासमुन्द : एक निजी अस्पताल को उपचार की अनुमति रद्द, दो को कारण बताओ नोटिस

पटना के वार्ड नंबर-32 के पूर्वी राम कृष्णा नगर स्थित एनटीपीसी कॉलोनी में 45 वर्षीय व्यक्ति की कोरोना से मौत हो गई। शव को श्मशान तक ले जाने के लिए कोई आगे नहीं आया। ऐसे वक्त में मृतक की 8 साल की बेटी संक्रमण के खतरे के बीच अपने पिता के शव के साथ पूरे दो दिनों तक रही।

फुलवारी विधायक ने दी जानकारी

बताया जा रहा है कि पिता के शव को श्मशान तक ले जाने के लिए कोई नहीं था। इस बारे में फुलवारी विधायक गोपाल रविदास ने बताया कि घटना के बारे में मृतक के पड़ोसियों से पता लगते ही माले राज्य कमेटी सदस्य रणविजय कुमार के साथ मौके पर पहुंचे और जिला प्रशासन को भी बुधवार की दोपहर में ही खबर दी गई।

कोरोना के कारण किसी ने नहीं की मदद

गोपाल रविदास ने कहा कि दो दिन पहले ही कोरोना संक्रमण से व्यक्ति की मौत हो गई थी। इसलिए संक्रमण के भय से देर शाम तक किसी प्रकार की कोई मदद नहीं मिली थी।

बेटी का भी कराया गया टेस्ट

विधायक ने बताया कि मृतक की बेटी को मकान मालिक के पास ही रखा गया है और कोरोना जांच सैंपल कलेक्ट किया गया। ये परिवार नालंदा जिले के हिलसा का रहने वाला है जो पटना के मधुबन कॉलोनी में किराए के मकान में रह रहे थे। वहीं शव को मकान से बाहर निकाल लिया गया है और अंतिम संस्कार कर दिया गया है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close