Chhattisgarh Newsअच्छी पहलछत्तीसगढ़छत्तीसगढ़ न्यूजजांजगीर-चांपानारायणपुरबस्तरबीजापुररायगढ़रायपुरसुकमा
Trending

Bijapur Naxal Attack: शहीद जवानों के परिवार को 80 लाख रुपये और अनुकंपा नियुक्ति

बीजापुर नक्सली हमले में शहीद जवानों के परिवार को 80 लाख रुपए की आर्थिक सहायता मिलेगी। साथ ही परिवार के एक सदस्य को अनुकंपा नियुक्ति भी मिलेगी।

www.media24media.com

बीजापुर में पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में शहीद हुए जवानों के परिवार को न्यूनतम 80 लाख रुपए की आर्थिक सहायता और परिवार के एक सदस्य को अनुकंपा नियुक्ति मिलेगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अधिकारियों को आर्थिक सहायता और अनुकंपा नियुक्ति की प्रक्रिया जल्द पूरी करने के निर्देश दिए हैं।

आर्थिक सहायता के तहत राज्य शासन द्वारा विशेष अनुग्रह अनुदान , सामूहिक विकल्प विशेष अनुदान , शहीद सम्मान निधि, समूह बीमा राशि और अन्य आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाएगी। इस मुठभेड़ में केंद्रीय अर्द्ध सैनिक बल के शहीद पुलिस अधिकारियों और जवानों को राज्य शासन द्वारा विशेष अनुग्रह अनुदान और सामूहिक बीमा विकल्प विशेष अनुदान राशि के रूप में कुल 45.40 लाख रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

अर्द्ध सैनिक बल द्वारा की जाएगी अग्रिम कार्रवाई

केंद्रीय अर्द्ध सैनिक बल के शहीद अधिकारियों और जवानों के परिवारों को अनुकंपा नियुक्ति और अन्य आर्थिक सहायता के संबंध में अग्रिम कार्रवाई अर्द्ध सैनिक बल द्वारा की जाएगी।

बता दें कि 3 अप्रैल को छत्तीसगढ़ के बीजापुर के तर्रेम इलाके में नक्सली मुठभेड़ हुआ था, मुठभेड़ के बाद से ही 23 जवान लापता हो गए थे, जिसमें सर्चिंग के दौरान 4 अप्रैल को लापता 23 जवानों में से 22 जवानों का शव मिल गया था। जबकि एक लापता बताया जा रहा था।

पढ़ें:- बीजापुर नक्सली मुठभेड़ – नक्सलियों के कब्जे में है CRPF का लापता जवान!!

वहीं नक्सली मुठभेड़ में लापता जवान राजेश्वर कुमार मनहास को लेकर एक बड़ी खबर सामने आ रही है। जानकारी के मुताबिक नक्सलियों द्वारा जवान का अपहरण कर लिया गया है। CRPF का जवान राजेश्वर कुमार पिछले तीन दिनों से नक्सलियों के कब्जे में है। तर्रेम मुठभेड़ के बाद से ही राजेश्वर की जानकारी सामने नहीं आ रही थी। बता दें कि राजेश्वर मनहास जम्मू-कश्मीर के रहने वाले हैं।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close