Chhattisgarh Newsआज खासआयोजनछत्तीसगढ़ न्यूजपर्व-विशेषरायपुर
Trending

आंवला नवमी 2020 : जानिए क्यों किया जाता है आंवला पेड़ के नीचे भोजन

www.media24media.com

कार्तिक मास के सोमवार यानि 23 नवंबर को अक्षय आंवला नवमी (अक्षय आंवला नवमी 2020) मनाई जाएगी। ऐसा मान्यता है कि इस दिन आंवले के पेड़ की पूजा करने से भगवान विष्णु प्रसन्न होते हैं और आरोग्यता और सुख-समृद्धि बनी रहती है।

एक पौराणिक कथा के अनुसार आंवला नवमी (अक्षय आंवला नवमी 2020) पर आंवले के पेड़ के नीचे पूजा और भोजन करने की प्रथा की शुरुआत माता लक्ष्मी ने की थी। कथा के अनुसार, एक बार मां लक्ष्मी पृथ्वी पर घूमने के लिए आईं। धरती पर आकर मां लक्ष्मी सोचने लगीं कि भगवान विष्णु और शिवजी की पूजा एक साथ कैसे की जा सकती है। तभी उन्हें याद आया कि तुलसी और बेल के गुण आंवले में पाए जाते हैं। तुलसी भगवान विष्णु को और बेल शिवजी को प्रिय है।

लक्ष्मी मां ने किया था आंवले के पेड़ के नीचे भोजन

उसके बाद मां लक्ष्मी ने आंवले के पेड़ की पूजा करने का निश्चय किया। मां लक्ष्मी की भक्ति और पूजा से प्रसन्न होकर भगवान विष्णु और शिवजी साक्षात प्रकट हुए। माता लक्ष्मी ने आंवले के पेड़ के नीचे भोजन तैयार करके भगवान विष्णु और शिवजी को भोजन कराया और उसके बाद उन्होंने खुद भी वहीं भोजन ग्रहण किया।

(अक्षय आंवला नवमी 2020) पूजा से होती है मनोकामना पूरी

ऐसा माना जाता है कि आंवला नवमी के दिन अगर कोई महिला आंवले के पेड़ की पूजा कर उसके नीचे बैठकर भोजन ग्रहण करती है, तो भगवान विष्णु और शिवजी उसकी सभी इच्छाएं पूर्ण करते हैं। इस दिन महिलाएं अपने संतान की दीर्घायु और अच्छे स्वास्थ्य लेकर कामना करती हैं।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close