देश-दुनिया

आयुर्वेद के डॉक्टर भी अब कर सकेंगे सर्जरी : केंद्र सरकार का फैसला

केंद्र की मोदी सरकार स्वास्थ्य सुविधाओं के तौर पर आयुर्वेद को ज्यादा तवज्जो दे रही है. अब केंद्र ने आयुर्वेद को लेकर एक और कदम आगे बढ़ाया गया है.

www.media24media.com

नई दिल्ली: केंद्र की मोदी सरकार स्वास्थ्य सुविधाओं के तौर पर आयुर्वेद को ज्यादा तवज्जो दे रही है. बीते दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में आयुर्वेद (Ayurveda) संस्थाओं का उद्घाटन (Inauguration of Ayurveda Institutions) किया था और अब केंद्र ने आयुर्वेद को लेकर एक और कदम आगे बढ़ाया गया है. अब आयुर्वेद के डॉक्टर (ayurveda doctor now perform surgery) भी जनरल और ऑर्थोपेडिक सर्जरी (General and Orthopedic Surgery) के साथ आंख, कान और गले की सर्जरी (Eye, ear and throat surgery) पाएंगे. इसको लेकर केंद्र ने हरी झंडी दिखा दी है. भारतीय चिकित्सा केंद्रीय परिषद ने इस संबंध में नोटिफिकेशन जारी किया है.

यह भी पढ़ें : –बघेल : BJP नेताओं ने दूसरे धर्म में शादी कर रखी है, ये कौन सा Jihad है

सरकार के नोटिफिकेशन के मुताबिक, आयुर्वेद के सर्जरी में पीजी करने वाले स्टूडेंट्स भी आंख, नाक, कान, गले के साथ ही जनरल सर्जरी के लिए विशेष रूप से प्रशिक्षित होंगे. इन स्टूडेंट्स को अब स्तन की गांठों, पेट से बाहरी तत्वों की निकासी, ग्लुकोमा, अल्सर, मूत्रमार्ग के रोगों, मोतियाबिंद हटाने और कई अन्य सर्जरी करने का अधिकार मिल जाएगा.

यह भी पढ़ें : –देश में कोरोना का कहर जारी , कई राज्यों में हो सकता है lockdown

भारतीय चिकित्सा केंद्रीय परिषद की ओर से कहा गया है कि स्नातकोत्तर (पीजी) के स्टूडेंट्स को विभिन्न सर्जरी (ayurveda doctor now perform surgery) के बारे में गहन जानकरी दी जाएगी. उल्लेखनीय है कि आयुर्वेद के स्टूडेंट्स को अब तक सर्जरी की शिक्षा दी जाती थी. मगर उनको सर्जरी करने के अधिकारों पर स्थिति स्पष्ट नहीं थी.

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close