अपराध जगतदेश-दुनिया
Trending

सावधान : लोन लेने के लिए चाइनीज एप का न करें इस्तेमाल, कर्ज के बदले बना रहे मौत का जाल

आज कल तुरंत लोन देने जैसी कई सारे मोबाइल एप (Mobile app) और ऑनलाइन स्कीम (Online scheme) चल रही है, जिसमें दावा किया जाता है कि वे अपने कस्टमर (Customer) को तुरंत और जितना जल्दी हो सके लोग दिलाते है, लेकिन यही जल्दबाजी में लिया गया लोन कई लोगों की मौत की वजह भी बन रही है।

www.media24media.com

आज कल तुरंत लोन देने जैसी कई सारे मोबाइल एप (Mobile app) और ऑनलाइन स्कीम (Online scheme) चल रही है, जिसमें दावा किया जाता है कि वे अपने कस्टमर (Customer) को तुरंत और जितना जल्दी हो सके लोग दिलाते है, लेकिन यही जल्दबाजी में लिया गया लोन (Loan App Crime) कई लोगों की मौत की वजह भी बन रही है।

बर्ड फ्लू की रोकथाम के लिए रेपिड रिस्पांस टीम गठित, सतर्कता बरतने के निर्देश

दरअसल भारत में लोन एप से धोखाधड़ी और बेइज्जत होने के बाद आत्महत्या के कई मामले सामने आ चुके हैं। इनमें चीनी नागरिकों की संलिप्तता (be careful because loan app fraud trap of chinese knocked) सामने आई है।

हैदराबाद पुलिस ने दी जानकारी

लोन एप फ्रॉड को लेकर हैदराबाद पुलिस (Hyderabad Police) ने कुछ दिन पहले एक चीनी नागरिक को गिरफ्तार किया है। जांच-पड़ताल में पता चला है कि तकरीबन 21 हजार करोड़ का ट्रांजेक्शन हुआ है। इतनी बड़ी संख्या में ट्रांजेक्शन पेमेंट गेटवे और इन कंपनियों से जुड़े अकाउंट्स के जरिये हुए हैं, जिस चीनी नागरिक को गिरफ्तार किया गया है उसका नाम झू वेई (Zhu Wei) है. चीन भागने के दौरान उसे दिल्ली एयरपोर्ट (Delhi Airport) से गिरफ्तार किया गया।

Horoscope 9 January 2021- जानिए एकादशी तिथि पर किन राशियों का चमकेगा भाग्य, और किन्हें होगा नुकसान

वहीं अब सवाल यह उठता है कि क्या ये पूरा रैकेट चीन से सीधा भारत आया है, या फिर पहले चीन में ही इसकी कहानी शुरू हुई? असल में वो वक्त 2016 का था, जब चीन से ऐसी खबरें आती थीं, जहां कर्ज लौटाने के बदले कॉलेज जाने वाली चीन की छात्राओं को उनकी बिना कपड़ों की तस्वीरें भेजने को लोन देने वाले कहते थे। इसके पीछे मकसद होता था, हफ्ते भर के कर्ज के बदले कई गुना ज्यादा ब्याज लगाकर वैसा वसूलना। चीन से शुरू हुआ वही गंदा खेल भारत तक पहुंच गया है।

छात्रा ने कर ली थी आत्महत्या

डेढ़ महीने पहले का दावा है कि चेन्नई में एक कॉलेज जाने वाली छात्रा से ऐसे ही एक तुरंत कर्ज देने वाले मोबाइल एप (Mobile app) ने किस्त वक्त पर न चुका पाने पर रात में बिना कपड़ों के कॉल करने को कहा था। उस छात्रा ने बाद में खुदकुशी (Suicide) कर ली थी. ऐसे खतरे लगातार बढ़ रहे हैं।

बर्ड फ्लू : कोरबा में 36 कबूतरों की मौत से मचा हड़कंप

वहीं फिलहाल दो सवाल हैं। पहला कि जहां कर्ज के बदले जान देनी पड़ जाए, वो लोन क्यों ऐसे एप से लिया जा रहा है? और दूसरा कर्ज नहीं भरने पर बदनामी की धमकी देने वाले एप कैसे कर्जदार की पर्सनल जानकारी लेते हैं। सवाल है कि क्या ऐसे ऐप्स को रोकने का तरीका नहीं है? क्या ये कानून नहीं तोड़ रहे? क्योंकि नियम कहता है या तो RBI से रजिस्टर्ड बैंक कर्ज दे सकते हैं या फिर रजिस्टर्ड नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन।

सरकार को ऐसे एप को जल्द ही कर देना चाहिए बंद

लेकिन नियम तोड़कर ये मृत्युजाल फैलाने वाले एप्स का शिकार भारत का नागरिक बन रहा है, जिसे रोकने के लिए जरूरी है कि आप अपने आसपास के लोगों से बात करिए। पूछिए कहीं उनमें से किसी ने ऐसे एप से लोन तो नहीं लिया। उनकी सहायता कीजिए ताकि ऐसे मोबाइल एप (Loan App Crime) को तुरंत सरकारें बंद करें।

रायपुर : ऑयल टैंकर ब्लास्ट होने से फैक्ट्री में लगी आग

पैसों की जरूरत कभी भी किसी को पड़ सकती हैं, लेकिन वित्तीय मामलों के जानकार सलाह देते हैं, ऐसे ऐप (Loan App Crime) से कर्ज लेने की जगह कुछ दूसरे रास्ते अपनाइए। अगर आपको पैसे की जरूरत है तो सबसे पहले आप अपने परिवार या दोस्तों से उधार मांगें। ये सबसे सुरक्षित तरीका है।

इस तरह कर सकते हैं बचाव

दूसरा तरीका लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी है। मतलब आप घर के बदले बैंक से लोन ले सकते हैं। जिसकी ब्याज दर पर्सनल लोन से काफी कम होती है। आप अपने निवेश पर भी लोन ले सकते हैं, जैसे गोल्ड या म्युचुअल फंड। अपने प्रॉविडेंट फंड, बैंक एफडी पर भी आप लोन ले सकते हैं। कई संस्थान कर्मचारियों को लोन की सुविधा देते हैं जरूरत होने पर आप इसका भी इस्तेमाल कर महंगे लोन से बच सकते हैं।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close