प्रेरक प्रसंग

Chhath Puja : उगते सूर्य को अर्घ्य के साथ संपन्न हुआ महापर्व छठ

www.media24media.com

Chhath Puja 2020 : छठ महापर्व (Chhath Puja)का चार दिवसीय अनुष्ठान आज उगते सूर्य (Rising Sun) को अर्घ्य ( Arghya) देकर संपन्न हो रहा है। छठ पूजा (Chhath Puja) मनाने वाले व्रतियों ने 36 घंटे का निर्जला व्रत रखकर कड़ी साधना कर सूर्य से अपनी कृपा बनाए रखने की प्रार्थना की।

देश के विभिन्न शहरों में सूर्य को अर्घ्य दिया जा रहा है (Sun is being offered)। इससे पहले षष्ठी को यानी 20 नवंबर की शाम को व्रतियों ने अगस्ताचलगामी को अर्ध्य दिया भक्तों ने रातभर सूर्य देव के जल्दी उगने की प्रार्थाना की।

यह भी पढ़ें : –Horoscope 21 November 2020 : आज का राशिफल- इन राशियों पर है संकट, जानिए कैसा होगा आपका दिन

यह पर्व सूर्य उपासना का है ऐसे में सूर्योदय व सूर्यास्त के समय का काफी महत्व है। बहुत से इलाकों में बादल या धुंध के कारण सूर्य समय पर नहीं दिखता तो लोग सूर्योदय समय के अनुसार भी पूजा कर लेते हैं।

वाराणसी में गंगा किनारे लोगों ने आज उगते सूर्य को अर्घ्य देकर छठ पूजा का चार दिवसीय अनुष्ठान पूरा किया। सूर्य को अर्घ्य देने के बाद व्रत करने वाले व्रत का पारण करते हैं यानी कुछ खाकर व्रत तोड़ते हैं।

इस पर्व (Chhath Puja) की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसमें धार्मिक भेदभाव, ऊंच-नीच, जात-पात को भुलाकर लोग एक साथ जलाशयों में मनाते हैं. कार्तिक महीने की षष्ठी को होने वाली छठ पूजा भारत में सूर्योपासना के लिए प्रसिद्ध पर्व है. यह बदलते हुए मौसम और पर्यावरण के सर्वथा अनुकूल पर्व है. यह वही समय है जब सर्दी शुरू होती है और हमारे जीवन के लिए सूर्य की गर्मी का महत्व बढ़ जाता है.

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close