Chhattisgarh Newsकोरोना न्यूजछत्तीसगढ़छत्तीसगढ़ न्यूजरायपुर
Trending

छत्तीसगढ़ को मिली कोरोना वैक्सीन, जिलों को वितरण शुरू

छत्तीसगढ़ में कोरोना वैक्सीन (Corona vaccine) की पहली खेप बुधवार को पहुंच गई है। राज्य वैक्सीन (Corona vaccine) भंडार से जिलों को टीकों का वितरण भी शुरू कर दिया गया है।

www.media24media.com

छत्तीसगढ़ में कोरोना वैक्सीन (vaccine distribution in Chhattisgarh) की पहली खेप बुधवार को पहुंच गई है। राज्य वैक्सीन (Corona vaccine) भंडार से जिलों को टीकों का वितरण भी शुरू कर दिया गया है। राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ. अमर सिंह ठाकुर (Dr. Amar Singh Thakur) ने बताया कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा निर्मित ‘कोविशील्ड’ के तीन लाख 23 हजार टीके प्रदेश को मिले हैं।

धूप, दीप और आरती उताकर छत्तीसगढ़ में किया गया कोरोना वैक्सीन का स्वागत

रायपुर, दुर्ग और बिलासपुर संभाग के जिलों को इनका वितरण बुधवार से ही शुरू कर दिया गया है। बस्तर और सरगुजा संभाग के जिलों में 14 जनवरी को यानी आज ये टीके भेजे जाएंगे। स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े कार्मिकों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को ये टीके लगाए जाएंगे।

भंडारण की पुख्ता व्यवस्था (vaccine distribution in Chhattisgarh)

स्वास्थ्य विभाग (health Department) द्वारा प्रोटोकॉल के मुताबिक प्रदेश के सभी जिलों में इन टीकों के परिवहन और भंडारण की पुख्ता व्यवस्था की गई है। सभी जिलों में टीकाकरण के लिए मॉकड्रिल और आपात स्थिति से निपटने का पूर्वाभ्यास भी किया जा चुका है। राज्य वैक्सीन भंडार से जिलों तक वैक्सीन भेजने के लिए इंसुलेटेड वैक्सीन वेन की व्यवस्था की गई है। इसके लिए एक राज्य स्तरीय, तीन क्षेत्रीय और 27 जिला स्तरीय कोल्ड चैन प्वाइंट्स बनाए गए हैं।

छत्तीसगढ़ में प्रथम चरण में हेल्थ केयर वर्कर को कोरोना वैक्सीन लगाने की तैयारी, बनाए गए 99 केंद्र

प्रदेश में टीकों के सुरक्षित भंडारण और परिवहन के लिए अभी 630 क्रियाशील कोल्ड चेन प्वाइंट और 85 हजार लीटर से ज्यादा कोल्ड चैन स्पेस उपलब्ध है। इनके साथ ही 81 अतिरिक्त कोल्ड चैन प्वाइंट भी स्थापित किए गए हैं। वैक्सीन के परिवहन के लिए 1311 कोल्ड-बॉक्स उपलब्ध हैं। सीरिंज, नीडल और अन्य सामग्रियों के भंडारण के लिए प्रदेशभर में 360 ड्राई-स्टोरेज भी बनाए गए हैं।

99 स्थान चिन्हांकित (vaccine distribution in Chhattisgarh)

प्रदेश में वैक्सीन लांच के लिए 99 स्थल चिन्हांकित किए गए हैं, जहां कुल दो लाख 67 हजार 399 हेल्थ-केयर वर्करों, राज्य और केंद्रीय कर्मचारियों और सशस्त्र बलों को टीके लगाए जाएंगे। इन सब की जानकारी कोविन पोर्टल में एंट्री की गई है। टीकाकरण के लिए 7116 टीकाकरण कर्मियों को चिन्हांकित कर इसका प्रशिक्षण दिया गया है। सभी 28 जिलों में 83 स्थानों पर कोविड-19 टीकाकरण का पूर्वाभ्यास किया जा चुका है।

जनता से पहले केंद्रीय मंत्रियों को लगे कोरोना वैक्सीन : CM बघेल

टीकाकरण के बाद किसी भी तरह की प्रतिकूल घटना या आपात स्थिति के प्रबंधन के लिए राज्य स्तर से लेकर टीकाकरण स्थलों तक एईएफआई (AEFI – Adverse Event Following Immunization) प्रबंधन प्रणाली को सुदृढ़ किया गया है। सभी टीकाकरण केंद्रों को नजदीकी AEFI प्रबंधन प्रणाली जैसे मेडिकल कॉलेज, जिला अस्पताल या सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से जोड़ा गया है।

कोविड-19 की वैक्सीनेशन की सभी तैयारियां पूरी

वहीं बलरामपुर-रामानुजगंज जिले अंतर्गत कोविड-19 से बचाव और रोकथाम के लिए कोविड-19 टीकाकरण जिला अस्पताल बलरामपुर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रामानुजगंज और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कुसमी में 16 जनवरी 2021 को शुरू किया जा रहा है, जिसके अंतर्गत प्रथम चरण में पंजीकृत सभी स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को कोविड-19 का टीका लगाया जाएगा। राज्य शासन से निर्देश प्राप्त होने पर चिन्हांकित कोविड-19 वैक्सीनेशन सेंटर में टीकाकरण शुरू कर दिया जाएगा। कोविड-19 टीकाकरण के लिए जिला स्तर पर सभी तैयारियां पूर्ण कर सेशन साइट चिन्हित कर लिए गए है। मॉक-ड्रील का आयोजन कर तैयारियों का पूर्व अभ्यास पूर्ण किया गया है।

सूची में शामिल व्यक्तियों को ही टीकाकरण स्थल में दिया जाएगा प्रवेश

कोरोना टीकाकरण के संबंध में बुधवार को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय अंबिकापुर के मंथन सभा कक्ष में अंबिकापुर में टीकाकरण केंद्र के अधिकारी कर्मचारियों की प्रशिक्षण सह कार्यशाला बैठक का आयोजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता करते हुए सीएमएचओ डॉक्टर पीएस सिसोदिया ने स्पष्ट निर्देश दिया कि कोरोना टीकाकरण का कार्य पूरी ईमानदारी सतर्कता और निष्ठा के साथ किया जाना है। टीकाकरण के कार्य में किसी प्रकार की कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसके लिए लगातार समस्त कर्मचारी अधिकारियों को ट्रेनिंग दी जा चुकी है।

जानिए किस बैंक का होम लोन है सबसे सस्ता

टीकाकरण स्थल पर उसी को प्रवेश दिया जाएगा जिसका नाम टीकाकरण की सूची में है। अनाधिकृत प्रवेश या अनाधिकृत रूप से टीका किसी भी अन्य व्यक्ति को नहीं लगाया जाएगा, इस बात का विशेष ख्याल रखा जाए ।

डॉ. सिसोदिया ने दी जानकारी


डॉ. सिसोदिया ने बताया कि वैक्सीन पूर्ण रूप से सुरक्षित है और इससे किसी भी प्रकार का कोई भय या डर की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए समस्त टीकाकरण स्थल पर समुचित व्यवस्था रखने के भी निर्देश दिए और सभी टीकाकरण स्थल पर डॉक्टरों की तैनाती अनिवार्य रूप से करने कहा।

भारतीय वायुसेना की ताकत बढ़ाएंगे 83 तेजस विमान

बता दें कि शुरुआती दौर में टीकाकरण का कार्य जिला सरगुजा अंबिकापुर में 6 जगहों पर किया जा रहा है, जिनमें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र उदयपुर, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सीतापुर, शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नवापारा, जिला चिकित्सालय अंबिकापुर, जीवन ज्योति अस्पताल अंबिकापुर और होली क्रॉस अस्पताल अंबिकापुर शामिल है।

बैठक में ये थे उपस्थित

बैठक में जिला टीकाकरण अधिकारी डॉक्टर राजेश, प्रभारी डॉ. शैलेंद्र गुप्ता, प्रभारी चिकित्सा अधिकारी नवापारा डॉक्टर आयुष जयसवाल, शहरी कार्यक्रम प्रबंधक डॉ. अमीन फिरदौसी, सहायक नोडल डॉ. श्रीकांत, जिला सर्विलेंस अधिकारी डॉ. मनीष और जिला कार्यक्रम प्रबंधक डॉ. पुष्पेंद्र राम उपस्थित थे।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close