Uncategorized

Earth Day 2021- गूगल ने अपने डूडल के जरिए दिया शानदार मैसेज, परिवार का हर सदस्य लगाए एक पेड़

www.media24media.com

24 अप्रैल को हर साल पृथ्वी दिवस के रूप में मनाया जाता है, जिसकी शुरुआत आज से 50 साल पहले हुई थी। इस दिन को और खास बनाने के लिए गूगल ने ने एक शानदार डूडल (Earth day Goggle Doodle) बनाया है, जिसमें सभी को एक पेड़ लगाने का संदेश दिया गया है। इस डूडल के जरिए ये खास मैसेज पहुँचाने की कोशिश की गई है कि हर जनरेशन द्वारा एक पेड़ लगाने से वो जिंदगी भर सभी को छाया फल और धूप देता है, इसलिए परिवार के हर सदस्य को एक पेड़ जरुर लगाना चाहिए।


केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक कोरोना संक्रमित, कहा – शिक्षा मंत्रालय का काम सामान्य रूप से चलता रहेगा

यह डूडल गूगल के होमपेज पर दिखाई दे रहा है जहां एक महिला पेड़ के नीचे बैठकर किताब पढ़ती हुई दिखाई दे रही है। जबकि उसकी बेटी पौधे की देखभाल कर रही है। डूडल का यह वीडियो लोगों को अपने युवाओं को पेड़ लगाने के लिए सिखा रहा है, इसमें एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी तक एक सबक दिया गया है।

“इस साल अर्थ डे पर डूडल वीडियो में प्रकाश डाला गया है कि हर कोई बीज को एक उज्जवल भविष्य के रूप में कैसे रोप सकता है। जिस ग्रह को हम घर कहते हैं, वह जीवन का पोषण करता है और आश्चर्य को प्रेरित करता है. हमारा पर्यावरण हमें बनाए रखने के लिए कड़ी मेहनत करता है।

जिसका एहसान हमें पेड़ लगाकर चुकाना चाहिए। आज के वीडियो डूडल में प्राकृतिक आवासों पर विभिन्न प्रकार के पेड़ लगाए गए हैं, जिनमें से कई तरीके हैं जो हम अपनी पीढ़ियों को और भविष्य की पीढ़ियों को पृथ्वी को स्वस्थ रखने के ‪लिए पेड़ लगाने को प्रोत्साहित कर सकते हैं।

जुगाड़ से बनाया कोविड केयर सेंटर, संचालन के लिए अनुमति का इंतजार -डॉ चोपड़ा

इस अर्थ डे पर या हर दिन हमें लोगों को हमारी पृथ्वी को रिस्टोर करने के लिए रोज एक छोटा कार्य करने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए। आज के अर्थ डे गूगल डूडल को विस्कॉन्सिन के अमेरिकी सीनेटर गेलॉर्ड नेल्सन (Gaylord Nelson) द्वारा बनाया गया है। बता दें कि पहली बार अर्थ डे 22 अप्रैल, 1970 को मनाया गया था, जब लगभग 20 मिलियन अमेरिकियों ने स्वस्थ और टिकाऊ पर्यावरण के लिए देश भर में सड़कों पर कदम रखा।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close