Chhattisgarh Newsअपराध जगतगरियाबंदछत्तीसगढ़रायपुर
Trending

​वन विभाग की कार्रवाई,​ ​एक जेसीबी मशीन सहित एक वाहन जब्त

गरियाबंद वन मंडल (Gariaband forest division) में आरोपी के खिलाफ की जा रही कड़ी कार्रवाई

www.media24media.com

वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री मोहम्मद अकबर के निर्देशानुसार राज्य में वन अपराधों की रोकथाम के लिए चलाए जा रहे सतत अभियान (Chhattisgarh forest department news) के तहत गरियाबंद वन मंडल में एक जेसीबी मशीन को जब्त कर राजसात की कार्रवाई जारी है। साथ ही वन क्षेत्र कोपेकसा में अवैध रूप से अतिक्रमण के उद्देश्य से जेसीबी मशीन से मिट्टी खुदाई कर रहे ग्राम निशानीदादर निवासी नरेन्द्र कुमार गोड़ के खिलाफ वन अपराध के प्रकरण दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है।

‘भूपेश बघेल की शहरी सरकार आपके द्वार’ पहुंचकर करेगी समस्याओं का निवारण

प्रधान मुख्य वन संरक्षक राकेश चतुर्वेदी के मार्गदर्शन और मुख्य वन संरक्षक रायपुर जे.आर. नायक और वन मंडलाधिकारी गरियाबंद मयंक अग्रवाल के निर्देशानुसार गठित टीम द्वारा बीते 8 जनवरी को मिली सूचना के आधार पर यह कार्रवाई की गई है। इसकी जानकारी मिलते ही राजिम संयुक्त वन मंडलाधिकारी अतुल कुमार श्रीवास्तव और परसुली वन परिक्षेत्र अधिकारी अशोक कुमार भट्ट द्वारा सहायक परिक्षेत्र अधिकारी जाकिर हुसैन सिद्दिकी के नेतृत्व में टीम को मौके पर तत्काल रवाना किया गया था।

जेसीबी मशीन को राजसात करने की कार्रवाई जारी

टीम द्वारा गश्त के दौरान कोपेकसा वन क्षेत्र में आरोपी को जेसीबी मशीन से मिट्टी खुदाई कर अतिक्रमण करते हुए पकड़ लिया गया। इसमें आरोपी के खिलाफ वन अपराध के प्रकरण दर्ज कर जब्त जेसीबी मशीन को राजसात करने की कड़ी कार्रवाई की जा रही है। इस अभियान में उप वन क्षेत्रपाल डोमार सिंह साहू, वनपाल दुर्गा प्रसाद दीक्षित, दंडेश्वर दुबे और वन रक्षक खिलेश्वर साहू, रज्जू कुमार और पारसनाथ श्रीमाली का सराहनीय योगदान रहा।

बलरामपुर में अवैध परिवहन कर रहे वाहन को किया गया जब्त

वहीं कार्यालय वनमण्डलाधिकारी (Chhattisgarh forest department news) से मिली जानकारी के मुताबिक एक महिन्द्रा पिकअप के द्वारा अवैध रूप से साल प्रजाति का कुल 5 चिरान यानि 0.319 घन मीटर का अवैध परिवहन करते हुए परिक्षेत्राधिकारी रामानुजगंज के द्वारा जब्त (Vehicle transporting illegal was seized) किया गया है। साथ ही वन अपराध प्रकरण के तहत कार्रवाई की जा रही है। प्रकरण में राजसात की कार्रवाई की जा रही है। वहीं इस जब्त वाहन के मालिकाना हक रखने वाले व्यक्ति अधोहस्ताक्षरकर्ता अधिकारी से सम्पर्क कर अपना दावा 10 दिन के अन्दर पेश कर सकते हैं। बता दें कि इस वाहन के राजसात की कार्रवाई जारी है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close