देश-दुनिया

कंगना ने पूछा – क्यों आवाज दबा दी जाती है, हम स्वतंत्र क्यों नहीं?

www.media24media.com

मुंबई : अभिनेत्री कंगना रनौत (Actress Kangana Ranaut) का कहना है कि वह अपने ही देश में एक गुलाम की तरह (Like a slave in my own country) व्यवहार किए जाने से थक गई हैं. वह देश में अपने मन की बात खुलकर व्यक्त नहीं कर सकती हैं. उन्होंने यह बात एक अकाउंट ट्रू इंडोलॉजी को सस्पेंड करने के कारण ट्विटर और इसके सीईओ जैक डोर्से पर हमला करते हुए कही. यह अकाउंट भारतीय संस्कृति और इतिहास के बारे में पोस्ट करता है (This account posts about Indian culture and history). अभिनेत्री ने इसे डिजिटल दुनिया (digital world) में हत्या करार दिया.

यह भी पढ़ें : –Corona Update : रायपुर की सीमा पर नहीं होगी कोरोना की जांच

उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा (Wrote on social media)- जा उनके पास आपके सवालों का जवाा नहीं होता है तो वे आपके घर को तोड़ देते हैं, आपको जेल में डाल देते हैं, आपकी आवाज को दाा देते हैं या आपकी डिजिटल पहचान को मार देते हैं. किसी की डिजिटल पहचान को खत्म करना आभासी दुनिया में किसी हत्या से कम नहीं है, इसके खिलाफ सख्त कानून होने चाहिए.

यह भी पढ़ें : –WhatsApp लेकर आया एक नया फीचर, आपके मैसेज खुद ही हट जाएंगे

उन्होंने आगे कहा- ट्विटर और जैक, आपका पूर्वाग्रह और इस्लामवाद का प्रचार शर्मनाक है, आपने टीआईएएक्साइल को बाहर क्यों किया, क्योंकि उसने हमारे इतिहास के बरे में फर्जी बातों का भंडाफोड़ किया? आपको शर्म आनी चाहिए, उस दिन की प्रतीक्षा कर रही हूं जा आप भारत में प्रतिांधित होंगे. आशा है कि प्रधानमंत्री कार्यालय ट्विटर के खिलाफ कार्रवाई करेगा.

एक अन्य ट्वीट में

कंगना ने कहा- अपने ही देश में एक गुलाम की तरह व्यवहार किए जाने के कारण थक गई हूं. हम अपने त्योहार नहीं मना सकते, सच नहीं कह  सकते और अपने पूर्वजों का बचाव नहीं कर सकते, हम आतंकवाद की निंदा नहीं कर सकते. ऐसे शर्मनाक गुलामी भरे जीवन का क्या मतलब जिसे कोई और नियंत्रित करे.

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close