देश-दुनिया

कपिल सिब्बल : कांग्रेस को विकल्प नहीं मानती देश की जनता

कांग्रेस का प्रदर्शन बहुत अच्छा नहीं कहा जा सकता, लेकिन पार्टी नेतृत्व (Party leadership) का मानना है कि चुनाव में हार से पार्टी का काम नहीं रुकना चाहिए.

www.media24media.com

नई दिल्ली : बिहार का चुनाव खत्म होने के बाद भी सियासी पारा अभी हाई है. NDA से मिली हार के बाद महागठबंधन (Mahagahthbandhan) के सहयोगी दलों में फूट पड़ती दिखने लगी है. पहले आरजेडी के सीनियर नेता शिवानंद तिवारी ने कांग्रेस पार्टी (Congress party) पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की कार्यशैली की वजह से BJP को मदद मिल रही है. अब कांग्रेस के सीनियर नेता कपिल सिब्बल (Kapil Sibal attacked congress) ने बिहार विधानसभा चुनाव और हाल में हुए चुनावों में कांग्रेस (Congress) के प्रदर्शन पर बात की है.

यह भी पढ़ें : –Bhai Dooj 2020 : जानिये भाई दूज की कथा , शुभ मुहूर्त

सिब्बल (Kapil sibal news) ने कहा कि बिहार में जाहिर तौर पर एनडीए के बाद आरजेडी दूसरे नंबर की पार्टी थी. कांग्रेस का प्रदर्शन बहुत अच्छा नहीं कहा जा सकता, लेकिन पार्टी नेतृत्व (Party leadership) का मानना है कि चुनाव में हार से पार्टी का काम नहीं रुकना चाहिए. मुझे उम्मीद है कि कांग्रेस (Kapil Sibal attacked congress) बिहार में मिली हार पर आत्मनिरीक्षण करेगी.

यह भी पढ़ें : –ये है असली लुटेरी दुल्हन, अब तक कर चुकी है इतनी शादियां, सुनकर उड़ जाएंगे आपके होश

कपिल सिब्बल ने कहा, ‘देश के लोग न केवल बिहार में, बल्कि जहां भी उपचुनाव हुए, जाहिर तौर पर कांग्रेस को एक प्रभावी विकल्प नहीं मानते. यह एक निष्कर्ष है. आखिर बिहार में एनडीए का विकल्प आरजेडी ही थी. हम गुजरात में सभी उपचुनाव हार गए. लोकसभा चुनाव में भी हमने वहां एक भी सीट नहीं जीती थी. उत्तर प्रदेश के कुछ निर्वाचन क्षेत्रों में हुए उपचुनावों में कांग्रेस के उम्मीदवारों ने 2% से भी कम वोट हासिल किए. गुजरात में हमारे तीन उम्मीदवारों ने अपनी जमानत खो दी. हालांकि, मुझे उम्मीद है कि कांग्रेस इन सबकों लेकर आत्मनिरीक्षण करेगी.’

कांग्रेस ने अब तक आत्मनिरीक्षण क्यों नहीं किया?

कांग्रेस पार्टी ने छह साल तक अपने प्रदर्शन को लेकर आत्मनिरीक्षण क्यों नहीं किया? इस सवाल के जवाब में सिब्बल कहते हैं, ‘ये संगठनात्मक रूप से कांग्रेस की गलती है. हम जानते हैं कि क्या गलत है. मुझे लगता है कि हमारे पास सभी उत्तर हैं. कांग्रेस पार्टी खुद ही सारे जवाब जानती है, लेकिन वे उन उत्तरों को पहचानने के इच्छुक नहीं हैं. अगर वे उन उत्तरों को नहीं पहचानते हैं, तो ग्राफ में गिरावट जारी रहेगी. यह अफसोसजनक है कि कांग्रेस अभी भी अलर्ट नहीं हो पा रही है. हमें इसे लेकर चिंतित हैं.’

कांग्रेस अपनी गलतियां पहचानने को तैयार क्यों नहीं है?

इस सवाल का जवाब देते हुए कपिल सिब्बल कहते हैं, ‘ऐसा इसलिए है, क्योंकि कांग्रेस वर्किंग कमिटी (CWC) एक नामित निकाय है. CWC के संविधान में भी लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं को अपनाया और अपनाया जाना चाहिए, जो कांग्रेस के संविधान के प्रावधानों में ही परिलक्षित होता है. आप नामांकित सदस्यों से यह उम्मीद नहीं करते हैं कि चुनाव के बाद चुनावों में कांग्रेस की लगातार गिरावट के कारणों के बारे में सवाल करना और उनकी चिंताओं को उठाना शुरू करें .

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close