आज खासछत्तीसगढ़ न्यूजमरवाही विधानसभा उपचुनाव
Trending

Marwahi By Election : मरवाही में कांग्रेस-भाजपा ने झोंकी ताकत, जानें क्या चल रहा

मरवाही विधानसभा उपचुनाव (Marwahi By Election Campaign) के लिए प्रचार अभियान अब अपने चरम पर पहुंच गया है।

www.media24media.com

मरवाही विधानसभा उपचुनाव (Marwahi By Election Campaign) के लिए प्रचार अभियान अब अपने चरम पर पहुंच गया है। इस उपचुनाव (Marwahi By Election date) के लिए तीन नवंबर को मतदान होगा। इसे देखते हुए भाजपा और कांग्रेस सहित विभिन्न दलों के स्टार प्रचारक, नेता, उम्मीदवार और उनके समर्थक चुनाव प्रचार में जुटे हुए हैं।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज मरवाही के डोंगरिया, कोडगार और जोगीसार गांव में कांग्रेस उम्मीदवार डाॅक्टर के.के ध्रुव के पक्ष में चुनाव प्रचार किया। वहीं, स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने लालपुर, सिवनी, और कोटमी में चुनावी सभाएं लीं। साथ ही सांसद ज्योत्सना महंत ने भी पिपलामार में कांग्रेस उम्मीदवार के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित किया। इसके अलावा, खाद्य मंत्री अमरजीत भगत और आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने भी विभिन्न क्षेत्रों में चुनावी सभाएं लीं।

वहीं, भाजपा द्वारा मरवाही में विजय संकल्प रैली निकाली गई। इस रैली में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय, केन्द्रीय राज्यमंत्री रेणुका सिंह, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री डाॅक्टर रमन सिंह, नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, राज्यसभा सांसद सरोज पांडेय, सांसद गोमती साय, विजय बघेल और रामविचार नेताम भी शामिल हुए। इन नेताओं ने मरवाही विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न इलाकों में भाजपा उम्मीदवार डाॅक्टर गंभीर सिंह के पक्ष में चुनावी सभाओं को संबोधित भी किया। इसके अलावा विधायक और पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने मरवाही में जनसंपर्क अभियान में हिस्सा लिया। इस दौरान उन्होंने जनचौपाल को भी संबोधित किया। श्री चंद्राकर ने कहा कि प्रदेश सरकार के पास जनकल्याण और विकास के नाम पर कोई योजना नहीं है। भाजपा के विधायक नारायण चंदेल और शिवरतन शर्मा ने भी आज चुनाव प्रचार में हिस्सा लिया।

निष्पक्ष चुनाव कराने की मांग

इस बीच, भारतीय जनता पार्टी के चुनाव प्रभारी और पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल ने केन्द्रीय चुनाव पर्यवेक्षक जयसिंह से मुलाकात कर मरवाही विधानसभा उपचुनाव (Marwahi By Election Campaign) को निष्पक्ष तरीके से कराने की मांग की। श्री अग्रवाल ने कांग्रेस पार्टी पर प्रशासनिक तंत्र का दुरूपयोग कर चुनाव को प्रभावित करने का आरोप लगाया है। श्री अग्रवाल ने केन्द्रीय चुनाव पर्यवेक्षक से प्रत्येक मतदान केन्द्र में अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था की भी मांग की है।
इस बीच, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिले के जिला निर्वाचन अधिकारी डोमन सिंह ने चुनाव खर्च समय पर प्रस्तुत नहीं किए जाने पर चार उम्मीदवारों को नोटिस जारी किया है। उन्होंने बताया कि इन अभ्यर्थियों को व्यय का ब्यौरा प्रस्तुत करने के लिए तीन दिन का समय दिया गया है।

हर घंटे मतदान की रिपोर्टिंग

वहीं, जिला निर्वाचन अधिकारी ने मरवाही विधानसभा उपचुनाव के लिए नियुक्त किए गए सेक्टर और सहायक सेक्टर अधिकारियों की बैठक ली। इस दौरान उन्होंने बताया कि एक और दो नवंबर को मतदान दलों की मतदान केन्द्रों के लिए रवानगी की जाएगी। उन्होंने बताया कि प्रत्येक दो घंटे में मतदान प्रतिशत की जानकारी एकत्रित करने के लिए विशेष रूप से कर्मचारियों को नियुक्त किया जा रहा है। बैठक में उन्होंने सभी सेक्टर अधिकारियों को मतदान केन्द्रों का भ्रमण करके बिजली, पानी और शौचालय की व्यवस्था के साथ मतदान पर्ची वितरण की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

मरवाही विधानसभा क्षेत्र के लिए होने वाले उपचुनाव के मद्देनजर तीन नवंबर को मतदान दिवस पर चुनाव क्षेत्र में सार्वजनिक और सामान्य अवकाश घोषित किया गया है।

निर्वाचन के लिए 12 दस्तावेज मान्य

इस बीच, केन्द्रीय निर्वाचन आयोग ने मतदान के लिए मतदाता फोटो पहचान पत्र सहित बारह दस्तावेजों को मान्यता दी है। इनमें आधार कार्ड, पासपोर्ट, ड्राईविंग लाइसेंस, केन्द्र और राज्य सरकार द्वारा जारी पहचान पत्र, बैंक या पोस्ट आॅफिस द्वारा जारी फोटोयुक्त पासबुक, पैनकार्ड, मनरेगा जाॅब कार्ड, स्वास्थ्य बीमा कार्ड, फोटोयुक्त पेंशन दस्तावेज के साथ ही सांसदों और विधायकों को जारी फोटो पहचान पत्र के अलावा रजिस्टार जनरल ऑफ इंडिया द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड को वैकल्पिक फोटो पहचान दस्तावेज के रूप में मान्य किया गया है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close