पड़ताल

रानी लक्ष्मीबाई को वीरांगना नहीं कहा जाना चाहिए – कांग्रेस नेता

www.media24media.com

भोपाल : मध्य प्रदेश के ग्वालियर के दतिया जिले के भांडेर विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी फूलसिंह बरैया हर बार अपने विवादित बयानों से चर्चा का विषय बन रहते हैं। हर बार की तरह इस बार भी उनका एक विवादित वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में बरैया झांसी की रानी लक्ष्मीबाई का मजाक उड़ा रहे हैं और उनके बारे में विवादित टिप्पणी कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें : –राज्योत्सव पर मुख्य शासकीय भवनों पर होगी रोशनी

रानी लक्ष्मीबाई पर आपत्तिजनक बयान

वायरस वीडियो में बरैया एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कह रहे हैं, ‘खूब लड़ी मर्दनी वो तो झांसी वाली रानी है…बुंदेले हरबोलो के मुंह हमने सुनी कहानी हैं। सुनी ही है, यह तो लिखी भी नहीं, क्यों सुनते हो तुम..? युद्ध का मैदान कहां था…झांसी। और मरी आत्महत्या करके (रानी लक्ष्मीबाई) ग्वालियर में। वीरांगना उसी को कहते हैं जो युद्ध के मैदान में मरे। युद्ध का मैदान झांसी में था, मरी थी लक्ष्मीबाई ग्वालियर में ‘आत्महत्या करके’। आत्महत्या करने वाले को अगर वीरांगना कहा, तो रोज 10 लड़कियां आत्महत्या कर रही हैं, उन्हें भी लिखो कि वीरांगना हैं ये…ठीक है…

यह भी पढ़ें : –किडनैपर से बच्ची को बचाने के लिए 202 KM नॉन स्टॉप दौड़ी ट्रेन

रैली में जुटे थे हजारों लोग

कांग्रेस प्रत्याशी आगे कह रहे हैं, ‘…दिमाग से सोचिए आप..लिखी हुई और सुनी हुई बातें मत करिए। कौन लड़ा था मालुम है? इसके बारे में पढ़िए। झलकारी बाई कोरिन हमारी बहन लड़ी थी झांसी में…ये तो बच्चे को ले करके निकल करके भाग रही थीं, ये लड़ी नहीं हैं, लक्ष्मीबाई एक मिनट नहीं लड़ीं। और लिख दिया खूब लड़ी मर्दानी…ओहहह..हो…हो…’ बता दें कि ये वायरल वीडियो 9 अक्टूबर 2015 में मेला ग्राउंड में आरक्षण समर्थक महारैली कार्यक्रम का है। यहां उन्होंने हजारों लोगों को संबोधित किया।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close