Chhattisgarh Newsछत्तीसगढ़बिलासपुरराजनीतिक दल
Trending

ऋचा जोगी के वकील ने मांगा एक हफ्ते का समय, हाईकोर्ट में टली सुनवाई

जाति प्रमाण पत्र मामला (Richa Jogi Caste case)

www.media24media.com

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी की पत्नी ऋचा जोगी के जाति मामले (Richa Jogi Caste case) पर डिवीजन बेंच में सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान ऋचा जोगी के वकील ने कोर्ट से एक हफ्ते का वक्त मांगा। इसके बाद सुनवाई एक हफ्ते तक के लिए टल गई है।

प्रदेश केे प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी की बहू ऋचा के अधिवक्ता गैरी मुखोपाध्याय ने न्यायालय को दिल्ली के वरिष्ठ अधिवक्ता द्वारा इस मामले की सुनवाई में पैरवी करने की जानकारी दी। कोर्ट ने मांग मानते हुए एक हफ्ते का समय दिया है. एक हफ्ते बाद दोबारा सुनवाई होगी.

जाति संबंधी अधिनियम के संशोधन को चुनौती

ऋचा जोगी (Richa Jogi Caste controversy) ने याचिका दायर कर राज्य अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग नियम 2013 में सितंबर-अक्टूबर 2020 में हुए जाति संबंधी अधिनियम के संशोधन को चुनौती दी थी।इस मामले की सुनवाई चीफ जस्टिस पीआर रामचंद्र मेनन और जस्टिस पीपी साहू की डिवीजन बेंच में होगी।

ऋचा की याचिका में दर्ज बातें-

  • साल 1950 के पहले से उनके पूर्वज मुंगेली के पास ग्राम पेंड्री में निवास करते आए हैं।
  • दस्तावेजों में उनकी जाति गोंड दर्ज है।
  • ऋचा ने कांग्रेस पर द्वेष की भावना से काम करने का आरोप लगाया है।

 जाति प्रमाण पत्र मामला (Richa Jogi Caste case)

  • आदिवासी नेता संतकुमार नेताम ने इस मामले को लेकर कैविएट दायर की थी।
  • संतकुमार नेताम ने मुंगेली के जिला स्तरीय जाति छानबीन समिति के अध्यक्ष से भी शिकायत की थी।
  • ऋचा जोगी पर गलत तरीके से जाति प्रमाण पत्र बनवाने का आरोप।
  • जिलास्तरीय छानबीन समिति ने 29 सितंबर को नोटिस जारी कर 8 अक्टूबर तक ऋचा से जवाब मांगा था।
  • छानबीन समिति के समक्ष खुद उपस्थित होने के बजाय ऋचा ने ई-मेल के जरिए अपना जवाब भेजा।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close