आयोजन

Navratri 2020 :शारदीय नवरात्र आज से, बड़े आयोजन नहीं होंगे

www.media24media.com

Navratri 2020 : मां की आराधना का महापर्व नौ दिवसीय नवरात्र आज से शुरू होगा, प्रदेश में आश्विन शुक्ल पक्ष एकम यानी 17 अक्टूबर यानि आज से मातारानी के आराधना का महापर्व शारदीय नवरात्र की शुरुआत होगीइस दिन घर-घर घट स्थापना होगी और इसके साथ ही 9 दिनों तक माता के नौ रूपों की पूजा-अर्चना और अनुष्ठान होंगे। शारदीय नवरात्र का महत्व इसलिए भी खास हो जाता है, क्योंकि, इससे गरबा-रास और डांडिया की खनक जुड़ी है। लेकिन, इस बार ऐसा कुछ भी नहीं होगा। इस बार नवरात्र पर कोरोना का ग्रहण रहेगा।

यह भी पढ़ें : –Navratri 2020 : जानें कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

नवरात्र के दौरान इस बार न तो गुजराती गरबा की धमक सुनाई देगी और न ही डांडिया की रंगत बिखरेगी। नवरात्र के गरबा पांडाल भी इस बार सूने ही रहेंगे। कोरोना महामारी के संक्रमण की वजह से नवरात्र के प्रति आमजन में उत्साह तो है, लेकिन महामारी के संक्रमण को देखते हुए सार्वजनिक कार्यक्रमों से परहेज किया जा रहा है।

नवरात्र पर कोरोना का असर है। नवरात्र के तहत इस बार कोरोना नियमों की पालना करते हुए घट स्थापना और पूजा-अर्चना के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। हर बार की तरह इस बार बड़े गरबा पांडाल नहीं सजेंगे। कोरोना के कारण इस बार गरबा कार्यक्रमों को लेकर सरकार और प्रशासन की ओर से अनुमति नहीं दी गई है।

आज होगी कलश स्थापना

शारदीय नवरात्र (Navratri 2020) में नौ दिनों तक शक्ति की देवी मां दुर्गा के नौ अलग-अलग रूपों की आराधना की जाती है। इसके बाद 10वें दिन विजयादशमी मनाई जाती है। इस वर्ष अधिकमास समाप्त होने के बाद नवरात्र की शुरूआत शनिवार से हो रही है। इस बार विजयदशमी 25 अक्टूबर को मनाई जाएगी। इस बार नौ दिनों में ही 10 दिनों का पर्व पूरा हो जाएगा। इसकी वजह तिथियों का उतार चढ़ाव है।

यह भी पढ़ें : –Navratri 2020 : राशिनुसार किस शुभ ग्रंथ से घर में आएगी समृद्धि

24 अक्तूबर को सुबह छह बजकर 58 मिनट तक अष्टमी है और उसके बाद नवमी लग जाएगी। दो तिथियां एक ही दिन पड़ रही हैं। इसलिए अष्टमी और नवमी की पूजा एक ही दिन होगी, जबकि नवमी के दिन सुबह सात बजकर 41 मिनट के बाद दशमी तिथि लग जाएगी। इस कारण दशहरा पर्व और अपराजिता पूजन एक ही दिन आयोजित होंगे। कुल मिलाकर 17 से 25 अक्टूबर के बीच नौ दिनों में दस पर्व संपन्न होंगे। शारदीय नवरात्रि मां दुर्गा की आराधना के लिए सबसे श्रेष्ठ माना जाता है।

इन नौ दिनों में होगी मां के नौ रूपों की पूजा

17 अक्टूबर : मां शैलपुत्री पूजा, घटस्थापना
18 अक्टूबर : मां ब्रह्मचारिणी पूजा
19 अक्टूबर: मां चंद्रघंटा पूजा
20 अक्टूबर : मां कुष्मांडा पूजा
21 अक्टूबर : मां स्कंदमाता पूजा
22 अक्टूबर : षष्ठी मां कात्यायनी पूजा
23 अक्टूबर : मां कालरात्रि पूजा
24 अक्टूबर- मां महागौरी दुर्गा पूजा
25 अक्टूबर: मां सिद्धिदात्री पूजा

लेटेस्ट अपडेट NEET Result 2020 करें चेक – https://ntaneet.nic.in/ntaneet/welcome.aspx


हमसे जुड़ें

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close