अजब-गजब
Trending

एक अनोखा गांव जहां मंदिर में शादी करना और दो मंजिला मकान बनाना माना जाता है अशुभ

www.media24media.com

मनाव सभ्यताएं हमेशा से ही मान्यताओं पर आधारित रही हैं। देश कितना हा आधुनिकरण की ओर चले जाए लेकिन आज भी ऐसी तमाम मान्यताएं और परंपराएं हैं जो लोग सदियों से मानते आ रहे हैं। ऐसी ही मान्यताओं को अब तक मानते आ रहा है कर्नाटक के बेलागावी जिले का कोहल्ली गांव (Karnataka’s kohalli village) । इस गांव में आज तक किसी ने भी दो मंजिला मकान नहीं बनवाया है।

ये भी पढ़ें- साईं बाबा के दरबार में भारतीय परिधान पहनना हुआ अनिवार्य

तकरीबन 5 हजार की आबादी वाले इस गांव में कई किसान परिवार निवासरत है। ज्यादातर ग्रामीण आर्थिक रूप से समृद्ध है, तो ये सवाल जरूर उठता है कि ऐसी क्या वजह से जो गगनचुंबी इमारतों के इस समय में ये ग्रामीण एक मंजील के मकान में गुजर बसर कर रहे हैं। दरअसल इस गांव में एक मंदिर स्थित है। गांव के तमाम घरों की ऊंचाई श्री संगमेश्वर मंदिर से कम है।

ये है वजह

कहा जाता है कि खागोल नाम के एक साधू ने इस गांव में तपस्या की थी। इससे पहले गांव (Karnataka’s kohalli village) को शिवपुर के नाम से जाना जाता था। खागोल ने ही गांव का नाम बदलकर कोहल्ली कर दिया था।ग्रामीण ने बताया कि एक बार एक परिवार ने कई मंजिला इमारत बना ली थी, जिसके बाद उन्हें तमाम मुश्किलों का सामना करना पड़ा। बाद में उन्होंने घर तोड़कर उसे एक मंजिला बनाया और उनका जीनव सुख से भर गया।

मंदिर में शादी करना माना जाता है अशुभ (Karnataka’s kohalli village)

श्री संगमेश्वर मंदिर को सिर्फ सफेद रंग से रंगा जाता है। मंदिर में शादी करना मना है, क्योंकि उसे अशुभ माना जाता है। यह किसी आश्चर्य से कम नहीं है कि कोहल्ली गांव के लोग आज भी इन परंपराओं और मान्यताओं को मानते हैं।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close