प्रेरक प्रसंग

Dhanteras 2020: धनतेरस के दिन क्यों रखते हैं दीया दक्षिण दिशा में, जानें पूजन विधि

www.media24media.com

दीपावली की शुरुआत धनतेरस 2020 (dhanteras) के दिन से होती है .पांच रोज तक चलने वाले इस हिन्दू पर्व की पहली पूजा धनतेरस के रूप में होती है। इस दिन माता लक्ष्‍मी, भगवान कुबेर और भगवान धन्‍वंतरि की पूजा का विधान है। शास्त्र अनुसार इस दिन क्षीर सागर मंथन के दौरान माता लक्ष्‍मी और भगवान कुबेर प्रकट हुए थे.

यह भी पढ़ें : –Horoscope 12 November 2020 : आज का राशिफल- इन राशियों पर है संकट, जानिए कैसा होगा आपका दिन

यह भी कहा जाता है कि इसी दिन आयुर्वेद के देवता भगवान धन्‍वंतरि का जन्‍म हुआ था. यही वजह है कि इस दिन माता लक्ष्‍मी, भगवान कुबेर और भगवान धन्‍वंतरि की पूजा का विधान है. भगवान धन्‍वंतरि के जन्‍मदिन को भारत सरकार का आयुर्वेद मंत्रालय ‘राष्‍ट्रीय आयुर्वेद दिवस’ के रूप में भी मनाया जाता है।

कार्तिक मास की तेरस यानी कि 13वें दिन धनतेरस 2020(dhanteras)मनाया जाता है. इस बार धनतेरस (dhanteras) 13 नवंबर को है.

धनतेरस 2020 पूजा तिथि और शुभ मुहूर्त

  • त्रयोदशी तिथि प्रारंभ: 12 नवंबर 2020 को रात 09 बजकर 30 मिनट से
  • त्रयोदशी तिथि समाप्‍त: 13 नवंबर 2020 को शाम 05 बजकर 59 मिनट तक
  • धनतेरस पूजा मुहूर्त: 13 नवंबर 2020 को शाम 05 बजकर 28 मिनट से रात 05 बजकर 59 मिनट तक.
  • कुल अवधि: 30 मिनट
  • प्रदोष काल: 13 नवंबर 2020 को शाम 05 बजकर 28 मिनट से रात 08 बजकर 07 मिनट तक.
  • वृषभ काल: 13 नवंबर 2020 को शाम 05 बजकर 32 मिनट से रात 07 बजकर 28 मिनट तक.

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close