पड़ताल

बीमारी बताकर महिला ने इकट्ठे किए 44 लाख से ज्यादा फंड, अय्याशी में लुटाए सारे पैसे

www.media24media.com

आज के समय में सोशल मीडिया (social media) के जरिए किसी भी इंसान की मदद घंटों में हो जाती है. ये एक ऐसा जरिया है, जो जरूरतमंद लोगों की मदद में भी काम आता है. लेकिन जब इस जरिया का गलत इस्तेमाल होने लगे तो, कई बार सच्चाई को भी लोग नकार देते हैं. क्योंकि सवाल उठने पर लोग सचेत हो जाते हैं, ऐसे में जरूरमंद लोगों की भी मदद को नुकसान पहुंच सकता है. ऐसा हम आपसे इसलिए कह रहे हैं, क्योंकि जिस खबर से हम आपको रूबरू करवाने जा रहे हैं, उसके बारे में जानने के बाद शायद आप भी किसी जरूरतमंद शख्स की मदद करने से पहले चार बार सोचेंगे. लेकिन सच्चाई ये है कि हर शख्स एक जैसा नहीं होता है.

यह भी पढ़ें : –Juhi Chawla Birthday- 53 वें जन्मदिन पर इस वजह से आई चर्चा में, देखें Video

हाल ही में यूके से एक खबर सामने आई है. जहां पर महिला के खिलाफ धोखाधड़ी का आरोप लगाया गया है. बताया जा रहा है कि इस महिला ने अपने आपको कैंसर पीड़ित बताकर ऑनलाइन फंडिंग की रिक्वेस्ट की थी. ऐसे में जब महिला को फंड्स मिल गए तो उसने इन पैसों से कई सारी चीजें की और इसका इस्तेमाल उसने ऑनलाइन गैंबलिंग में भी की.

जानकारी के मुताबिक जिस महिला पर इस तरह का आरोप लगा है, उसकी उम्र 42 साल है. महिला का नाम निकोल बताया जा रहा है. जिन्होंने गोफंडमी पेज पर खुद को एक कैंसर पीड़ित महिला बताया था. पेज पर निकोल की ओर से जो एक तस्वीर साझा की गई थी उसे भी आप साफतौर पर देख सकते हैं. इस तस्वीर में निकोल बहुत ही ज्यादा कमजोर नजर आ रही हैं. वो इस फोटो में एक ब्लैंकेट को ओढ़कर लेटी हुई दिखाई दे रही हैं.

बता दें कि निकोल की ये तस्वीर कैंसर की बीमारी से संबंधित नहीं है. बल्कि ये तस्वीर उस ऑपरेशन के दौरान की है जब उन्होंने अपना गॉल ब्लैडर हटवाया था. हैरानी वाली बात तो ये है कि कैंसर की बीमारी (Cancer disease) का बहाना करके निकोल ने पूरे 45 हजार पाउंड (45 thousand pounds) की फंडिंग इकट्ठा कर ली थी.

इस केस के बारे में प्रासीक्यूटर बेन इर्विन ने बात करते हुए कहा कि ये सारी कहानियां निकोल ने अपनी लाइफस्टाइल को बरकरार रखने के लिए सुनाई थी.

प्रासीक्यूटर ने ये भी जानकारी दी कि फंड से इकट्ठे किए गए पैसे को उन्होंने कैंसर का इलाज कराने में नहीं लगाया. बल्कि इस पैसे का इस्तेमाल उन्होंने कई अलग-अलग चीजों में किया.

जिसमें ट्रैवलिंग से लेकर ऑनलाइन गैंबलिंग (Online gambling) , रेस्टोरेंट्स बिल्स और फुटबॉल मैच देखने के लिए एयर टिकेट्स भी शामिल हैं. यहां तक कि इस केस के बारे में बात करते हुए गायनोकोलॉजिस्ट और निकोल की मित्र निकोलस मॉरिस ने भी ये खुलासा किया है कि निकोल को कोई भी दिक्कत नहीं है. उन्हें कैंसर जैसी कोई बीमारी नहीं है.

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close